समाजवादी पार्टी ने किया २४ सीटो पर उम्मीद्वार खडे करने का एलान. कहा धर्मनिरपेक्ष वोटो के विभाजन को रोकने के समाजवादी पार्टी के प्रयास को कॉंग्रेस-राकाँपा का साथ नही मिल रहा.

आगामी विधानसभा चुनाव मे धर्मनिरपेक्ष वोटो का बटवारा न हो और सांप्रदायिक ताकतो को सत्ता से दूर रखने के उद्देश से समाजवादी पार्टी चाहती है कि कॉंग्रेस और राष्ट्रवादी कॉंग्रेस से समझौता हो. जिसके परीपेक्ष मे समाजवादी पार्टी ने अपनी तरफ से हमेशा से कोशिशे की परंतु कॉंग्रेस-राकाँपा की तरफ से अपेक्षित प्रतिसाद नही मिलने, तथा नॉमिनेशन फाईल करने की तारीख नजदीक है, और चुनाव की तैयारी भी करनी है, इस वजह से पहले चरण मे समाजवादी पार्टी ने २४ सीटो पर पार्टी द्वारा उम्मीद्वार खडे करने का एलान आज यहा नरीमन पोइंट स्थित समाजवादी पार्टी कार्यालय मे संवाददाता संमेलन को संबोधित करते हुये समाजवादी पार्टी के प्रदेश महासचिव तथा प्रवक्ता अब्दुल कादीर चौधरी ने किया. इस वक्त उनके साथ समाजवादी पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष अशोक गायकवाड, अल्पसख्यांक प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष मुफ्ती हारून नदवी भी उपस्थित थे.

 

उन्होने प्रेस को जानकारी देते हुये बताया कि समाजवादी पार्टी आगामी विधानसभा चुनाव मे बालापूर, अकोला (पश्चिम), अकोट, परतूर, नागपूर (पूर्व), मुर्तजापुर, धुले, मालेगाव, नवापुर, एरंडोल, रावेर, जळगाव (शहर), उदगीर, औरंगाबाद (मध्य), औरंगाबाद (पूर्व), गंगापूर, कुर्ला, बांद्रे (पूर्व), मुंबादेवी, वर्सोवा, भिवंडी (पूर्व), भिवंडी (पश्चिम), मानखुर्द-शिवाजी नगर, विक्रोली, मुंब्रा-कलवा  आदी विधानसभा सीटो पर अपने उम्मीद्वार खडा करेगी. एक सवाल के जवाब मे उन्होने कहा कॉंग्रेस-राकाँपा से तालमेल नही होने की स्थिती मे  समाजवादी पार्टी की आगामी विधानसभा चुनाव मे २८८ सीटो पर उम्मीद्वार खडा करने की तैयारी है. एक सवाल के जवाब मे उन्होने कहा कि एमआईएम यदी महाराष्ट्र मे उम्मीद्वार खडा करती है तो धर्मनिरपेक्ष वोटो का बटवारा तय है. हालाकी एमआईएम का यहा कुछ भी काम नही है. उन्होने कॉंग्रेस पर सांप्रदायिकता को बढावा देने का आरोप लगाते हुये कहा कि समाजवादी पार्टी को कमजोर करने की कोशिश कॉंग्रेस ने हमेशा से की है. गत विधानसभा चुनाव मे भिवंडी (पूर्व) से यदी कॉंग्रेस के मुजफ्फर हुसैन खडे नही होते तो यह सीट समाजवादी पार्टी के पाले मे होती. लेकीन कॉंग्रेस को साम्प्रादायिक दल को जीताने मे रुची है. उत्तर प्रदेश मे मैनपुरी लोकसभा सीट और विधानसभा की कुछ सीटो के उपचुनाव मे भाजपा के बडे-बडे नेताओ, संत, महात्माओ द्वारा धार्मिक प्रचार के बावजुद समाजवादी पार्टी को मिली भारी सफलता को उन्होने मोदी लहर बेअसर होने का नतीजा बता कर उन्होने ताज्जूब जताया कि विकास की बाते करने वाले चुनाव के वक्त उत्तर प्रदेश मे धार्मिक विद्वेष फैलाने की बाते कैसे करते है? लोकसभा चुनाव मे लोगो से जो बडे-बडे वादे किये गये थे, उससे लोगो का अपेक्षा भंग हो गया है और वह नये विकल्प की तलाश मे है. समाजवादी पार्टी के साथ जनमत है और आगामी विधानसभा चुनाव मे पार्टी को लोगो का भरपूर साथ मिलेगा, ऐसा विश्वास उन्होने व्यक्त किया.   

 

© 2014 All Rights Reserved.
Abu Asim Azmi