राम मनोहर लोहिया

राम मनोहर लोहिया जो एक स्वतंत्रता सेनानी, समाजवादी और एक महान सांसद थे, समाजवादी पार्टी के लिए मार्गदर्शक प्रकाश है. उनकी निष्ठा, भारत की आजादी के लिए उनके नि:स्वार्थ संघर्ष और समाज के सभी वर्गों के लोगों को एकजुट करने की क्षमता, हमारे पार्टी के नेताओं, युवाओं और श्रमिकों को प्रभावित किया है.

अंग्रेज़ों के खिलाफ लेख लिखने और यूरोप में ब्रिटिश साम्राज्यवाद के खिलाफ जागरूकता पैदा करने , स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान अथक काम करने वाले लोहिया, महात्मा गांधी के विचारों से बहुत प्रभावित थे. लोहिया स्वतंत्रता संग्राम के दौरान ब्रिटिश द्वारा कई बार जेल में बंद किए गए, और वह सामाजिक समानता के लिए कड़ाई से अपने पूरे जीवन लड़ते रहे .

भारत के स्वतंत्र होने के बाद, राम मनोहर लोहिया ने खुद को राजनीति में ज़मीनी स्तर पर समर्पित किया जिसमें किसानों के मुद्दे, विकास कार्य और सामाजिक अन्याय के खिलाफ लड़ाई शामिल थे. सत्याग्रह पर अपने उग्र लेख के साथ आम लोगों को जगाने की उनकी क्षमता, और उनका सामाजिक समस्याओं का सहज ज्ञान उन्हें भारत का अग्रणी समाजवादी नेता बनाता है.

लोहिया की ' करो या मरो ' की भावना, समाज के पिछड़े, गरीब और सामाजिक रूप से कमजोर वर्गों के सामाजिक उत्थान के संघर्ष में समाजवादी पार्टी के लिए एक मार्गदर्शक बल है .

© 2014 All Rights Reserved.
Abu Asim Azmi